कांग्रेस पार्टी मतलब गाँधी परिवार इसीलिए सर्वसम्मिति से बनाये जा सकते है कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल ५ घंटे की मीटिंग से निकला नतीजा

Spread the love

ANI NEWS INDIA @http://aninewsindia.com

मुम्बई // गुणवंत सिंह बघेल  : 9967086023

कांग्रेस पार्टी मतलब गाँधी परिवार इसीलिए सर्वसम्मिति से बनाये जा सकते है कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल ५ घंटे की मीटिंग से निकला नतीजा

कांग्रेस पार्टी की सर्वदलीय मीटिंग में राहुल गाँधी बोले पार्टी जो भूमिका तय करेगी उसको निभाउंगा जल्द कांग्रेस अध्यक्ष बनने का संभावना प्रबल हो गई।
कांग्रेस पार्टी की मीटिंग जबरदस्त उलटफेर देखने को मिला क्यूंकि कांग्रेस प्रेजिडेंट के लिए कांग्रेस के बड़े नेता पवन बंसल जी ने कहा की कोंग्रेसी नेताओ में कोई भी मतभेद मनमुटाव या किसी प्रकार का असंतोष नहीं है राहुल गाँधी को लेकर उनके नेतृत्व सबको पसंद है उसी में कांग्रेस की सोनिया गाँधी ने बोली की हम एक बड़ा परिवार है।

मीटिंग से से ये आसार लगाए जा रहे है की अब कांग्रेस पार्टी का नया अध्यक्ष राहुल गाँधी ही बनेगे इस तरह कयास लगाए जा रहे है क्यूंकि सभी कोंग्रेसी नेताओ ने राहुल के नेतृत्व में किसी भी प्रकार असंतोष नहीं है ऐसा कहा। शनिवार को कांग्रेस पार्टी की वर्तमान अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने अपने घर १० जनपत पे सभी बड़े नेताओ के साथ मीटिंग की जिसमे २० बड़े नेताओ ने हिस्सा लिया। सूत्रों का बोलना है की जितने भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गाँधी के नेतृत्व से असंतोष थे सभी ने एक बार फिर से राहुल गाँधी को पार्टी की कमान अपने हाँथ में लेनी चाहिए , जिसको देखते हुए राहुल गाँधी ने जबाब दिया की पार्टी जो भी काम तय करेगी उसे में पूरी जिम्मेदारी से निभाउंगा आगे कहा की चुनाव तेह करेंगे की नेता कौन होगा। आज मीटिंग राहुल गाँधी की मदर के घर में हुई जिसमे घोर मंथन किया गया ५ घंटे तक उसके बाद पार्टी को मजबूत करने के लिए उसपर चर्चा की गई। मीटिंग में वरिष्ठ नेताओ के साथ पवन बंसल जी ने कहा की कोई असंतोष नहीं है राहुल गाँधी को लेकर और उनके नेतृत्व को सभी ने माना है और सोनिया गाँधी ने भी मीटिंग में कहा की हम एक बड़ा परिवार है इसलिए हमसबको मिलके पार्टी को मजबूत करना चाहिए और एक साथ होना चाहिए इसके लिए जल्दी से जल्द चिंतन शिविर करेंगे और उसमे बीजेपी से किस प्रकार लड़ा जाए उसकी रणनीति तय की जाएगी।
नई दिल्ली में शनिवार को कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी के घर पे बैठक की गई जिसमे पृथ्वीराज चव्हाण, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, आनंद शर्मा, मनीष तिवारी,  कमलनाथ, अंबिका सोनी, पी चिदंबरम, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह,  गुलाम नबी आज़ाद, भूपिंदर सिंह हुड्डा आदि वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

कांग्रेस पार्टी ने ये मीटिंग इसलिए रखी की बहुत समय से कांग्रेस पार्टी अंदर कुछ गड़बड़ चल रहा था बहुत असंतोष की भावना थी नेताओ में बहुत अंदरूनी कलह होती रही जो बात देखने को मिली थी।  उसमे पार्टी के वरिष्ठ नेताओ ने पार्टी नेतृत्व के लिए पार्टी के बड़े नेता राहुल गाँधी पे असंतोष प्रगट कर चुके थे जिसको देखते हुए पार्टी की हालत को समझते हुए सोनिया गाँधी मीटिंग कर सबके साथ बैठक की जिससे सभी पुरानी बातों को विराम लग सके और नये पार्टी अध्यक्ष के चुनाव का में होने वाली दिक्कत्तों कठिनाइयों को कैसे दूर किया जाए इसलिए मीटिंग की गई। बहुत समय से कांग्रेस में पार्टी अध्यक्ष को लेकर घमासान मचा हुआ था क्यूंकि गाँधी परिवार के बहार का कोई नेता पार्टी अध्यक्ष बन नहीं पा रहा था जिसको देखते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओ पार्टी नेतृत्व पर ४ महीने पूर्व कांग्रेस की अध्यक्ष को चिट्ठी लिखे थे और सोनिया गाँधी के साथ मिलकर ये सवाल उठाये थे सभी असंतोष नेताओ ने। मीटिंग में क्या हुआ उसकी जानकारी कांग्रेसी नेता हरीश रावत ने कहा की मीटिंग सौहार्दपूर्ण वातावरण में चली  और हम सब ने  संगठनात्मक मुद्दों  को लेकर बातचीत करने के लिए दुबारा मिलने का निर्णय लिया है साथ ही हम कृषि कानून के विरोध में जो किसान आंदोलन कर रहे है हम किसानो के साथ है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!