डायरिया, पेट दर्द वालों को भी कोरोना, स्थिति बिगडी तो फिर लगाया जा सकता है लाॅकडाउन

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

भोपाल: ब्रिटेन में कोरोना श्रेणी का एक नया वायरस मिलने के कारण क्रिसमस के सभी त्यौहार रद्द कर दिए गए। हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर पराग शर्मा का दावा इससे मिलता-जुलता है। भोपाल में कोविड-19 का नया लक्षण देखने को मिला है। पेट दर्द या डायरिया अथवा बुखार वाले लोगों को भी कोविड-19 पॉजिटिव निकल रहा है। हर रोज कुल पॉजिटिव में से लगभग 50% इसी प्रकार के मरीज हैं। सवाल यह है कि क्या डॉक्टर पराग शर्मा ने इसकी ऑफिशियल सूचना भोपाल कलेक्टर एवं संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं को दे दी है। यदि हां, तो क्या ऐसी स्थिति में स्कूल खोलना, बाजार संचालित करना और क्रिसमस जैसा त्यौहार मनाना उचित होगा। यदि सरकार ने तत्काल ध्यान नहीं दिया तो कहीं फिर से भोपाल को लॉकडाउन ना करना पड़ जाए।

हालांकि इस मामले में हायर लेवल से कोई पुष्टि नहीं हुई है और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन या फिर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कोई बयान नहीं दिया है लेकिन हमीदिया अस्पताल में कोविड यूनिट के इंजार्च डॉ. पराग शर्मा का कहना है कि उनके पास इस तरह के मामलों की संख्या पिछले 15 दिनों में बढ़ रही है। डॉ शर्मा के अनुसार लोग पेट दर्द, डायरिया और बुखार होने की शिकायत लेकर आते हैं, जांच कराने पर ज्यादातर कोरोना पॉजिटिव निकल रहे हैं। वैसे भोपाल में एक और इत्तेफाक है कि कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों की संख्या एक चमत्कारी औसत के साथ चल रही है। 100 मरीज के आसपास प्रतिदिन से लेकर 300 मरीज के आसपास प्रतिदिन तक ग्राफ चलता रहा है।

हमीदिया अस्पताल के कोविड यूनिट इंजार्च डॉ. पराग शर्मा का कहना है कि कोरोना के हर केस में लक्षण सर्दी-जुकाम, खांसी और बुखार ही हो ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं। सोमवार को भोपाल में 123 नए कोरोना संक्रमित मिले। अब राजधानी में संक्रमितों की संख्या 39,306 हो गई है। इनमें 34,718 लोग ठीक हो चुके हैं। भोपाल के डॉक्टरों को सफल नहीं मान सकते क्योंकि यहां रिकवरी रेट मात्र 88.32 फीसदी है, जबकि देश के कई दूसरे शहरों में यह 99% तक है। एक्टिव पेशेंट्स 2129 हैं। इनमें कोलार में सबसे ज्यादा 237 और शाहपुरा में 197 मरीज हैं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!