BHOPAL में COVID वैक्सीन ट्रायल के प्रतिभागी की मौत

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक दिहाड़ी मजदूर दीपक मरावी की मौत हो गई। बताया गया है कि दीपक मरावी उन लोगों में से एक हैं जिन पर कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा था। समाचार लिखे जाने तक दीपक की मृत्यु का कारण स्पष्ट नहीं किया गया है। 

दीपक मरावी की मृत्यु 21 दिसंबर 2020 को हो गई थी। उनकी पत्नी ने कैमरे के सामने बयान दिया है कि उनकी मृत्यु वैक्सीन के कारण हो गई है। स्वर्गीय दीपक मरावी उन लोगों में से एक हैं जिन पर कोविड-19 वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा था। स्वर्गीय दीपक मरावी की पत्नी का कहना है कि उनके पति की मौत के बाद ना तो सरकार से कोई मदद मिली है और ना ही मृत्यु के उपरांत वाली प्रक्रियाएं पूरी हो रही है। अस्पताल द्वारा मृत्यु प्रमाण पत्र नहीं दिया जा रहा और पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं दी है।

बताया गया है कि दीपक मरावी भोपाल की टीला जमालपुरा इलाके में रहते थे। उनके बाद यहां उनकी पत्नी और 3 बच्चे शेष रह गए हैं। दीपक को पहला टीका लगाया गया था उसके बाद दीपक की तबीयत खराब हो गई और उसकी मृत्यु हो गई। मृत्यु का कारण समाचार लिखे जाने तक स्पष्ट नहीं किया गया है। दीपक की पत्नी ने अपने बयान में बताया है कि वैक्सीन के 7 दिन तक उनकी तबीयत ठीक थी लेकिन फिर चक्कर आने लगे और मुंह से झाग निकलने लगा।

घर में अकेले थे पापा, मां काम पर गई थी, भाई खेल रहा था

दीपक के बेटे आकाश मरावी ने बताया कि डोज लगवाने के बाद से पिता ने मजदूरी पर जाना बंद कर दिया था, वे कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर रहे थे। पिताजी की सेहत 19 दिसंबर को बिगड़ी थी। अस्पताल चलने को कहा था, लेकिन वे नहीं माने। 21 दिसंबर को जब उनका निधन हुआ, तब वे घर में अकेले थे। मां काम से बाहर गई थी और छोटा भाई बाहर खेल रहा था। हमने मौत की सूचना उसी दिन पीपुल्स कॉलेज को भेज दी थी। अगले दिन सुभाष नगर विश्राम घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया था।

पीपुल्स मेडिकल कॉलेज का बयान

वाॅलंटियर दीपक मरावी की मौत की जानकारी है। उन्हें क्लीनिकल ट्रायल में वैक्सीन लगाया गया था। पोस्टमार्टम कराया गया है। इसकी फाइनल रिपोर्ट आना बाकी है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!