तीरंदाज खिलाड़ी मुस्कान किरार की वजह से मेरा परिवार तबाह हो गया : मोहिनी सलारिया

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला प्रतिनिधि जबलपुर  // विक्टर दास 8720053434

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

मध्य प्रदेश के लोकप्रिय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी मुझे न्याय दिलवाए यही आपसे मेरी प्रार्थना

नारियों पर होने वाली हिंसा के आंकड़े चौंकाने वाले हैं। दुनिया की हर तीसरी महिला शारीरिक या मानसिक हिंसा की शिकार होती है। यह हिंसा प्रायः उसके निकट संबंधी और अंतरंग साथियों द्वारा ही की जाती है।
आज हम ऐसी ही एक महिला की दास्तान बताने जा रहे है जो आँसुओ भरी ज़िंदगी जीने पर मजबूर है|

रिछपाल सिंह सलारिया मध्य प्रदेश राज्य तीरंदाजी अकादमी जबलपुर में प्रमुख कोच है जो रानीताल स्टेडियम में ट्रेनिंग देते हैं। भारतीय तीरंदाज खिलाड़ी मुस्कान किरार अकैडमी में छात्रा है जिसके तीरंदाजी के कोच रिछपाल सिंह सलारिया है। भारत को स्वर्ण पदक मिलने पर मुस्कान किरार और रिछपाल सिंह पर पत्नी मोहनी सलारिया को अपने पति पर गर्व था। इस पदक के मिलने से सबसे ज्यादा खुशी उसके परिवार को ही थी। लेकिन नहीं पता था कि भारत में स्वर्ण पदक की खुशी के साथ साथ मोहनी के जीवन में बर्बादी शुरू हो जाएगी। आज वह दिन आ गया कि रिछपाल सलारिया एवं मुस्कान किरार के बीच अनैतिक संबंध के चलते मोहनी का बसा बसाया घर परिवार बिखर गया।
मोहनी के परिवार मे पति पत्नी और एक 17 साल का 80 प्रतिशत विकलांग पुत्र है जो सारे दिनचर्या क्रिया बिस्तर पर ही करता है एवं एक पुत्री 8 वर्ष की है जिसकी देखरेख मोहनी अकेले ही करती है।

पहले भी मोहनी ने अपने पति और मुस्कान को दिल्ली के एक होटल के कमरे में आपत्तिजनक हालात में पकड़ा था। वहां भी बड़ा विवाद हुआ था दोनों ने मिलकर मोहनी को मारा पीटा था।

बिना परमिशन नेशनल कैंप छोड़ मुस्कान व कोच रिचपाल सिंह 3 दिन लापता रहे, जिस वजह कैंप से बाहर किया था और प्रतिबंध लगाया था क्योंकि इन दोनों पर अधिकारियों से अनुमति लिए बिना ही 3 दिवस तक शिविर छोड़कर लापता होने के कारण कैंप से बाहर कर दिया था वही इनको प्रतिबंधित भी कर दिया गया था। इन दोनों की अनैतिक संबंध की वजह से भारतीय खेल प्राधिकरण ने घटना के संदर्भ में शिविर से संबंधित अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी थी जिसके बाद फैसला किया गया था कि तीरंदाज और कोच को अनुशासनात्मक कदम के तहत शिविर से बाहर कर दिया जाए।
इसके बाद रिछपाल और मुस्कान के बीच संबंध घनिष्ठ होते गए और पत्नी बच्चों को जबलपुर से जम्मू छोड़ने के बाद रिछ्पाल मोहनी पर तलाक देने पर दबाव बनाने लगा|

12 जनवरी 2021 को रानीताल परिसर जबलपुर में रिछ्पाल एवं 8 से 10 कोच एवं छात्रों ने मोहनी पर मारपीट कर जानलेवा हमला किया|

मोहनी अपने पति रिछ्पाल से दिनांक 12 जनवरी 2021 को लगभग 5:00 बजे रानीताल परिसर स्थित कार्यालय मिलने गई थी। वहा मोहनी को अचानक सामने देखकर बौखला गया और गाली गलौज करते हुये मारपीट करने लगे और मोहनी चिल्लाती रही परंतु यह लोग मुझे मां बहन की गंदी गंदी गालियां देते हुए लात घुसे से मारते रहे। यह सब चल ही रहा था कि मीडिया के पत्रकार लोग अंदर आ गये और कैमरे से वीडियो बनाने लगे उन पर भी यह सभी लोग ने मिलकर हमला कर दिया, इतने सारे लोग एक महिला पर टूट पड़े|

एक अकेली महिला पर अत्याचार का सिलसिला यही खत्म नहीं हुआ ।

उसने पुलिस में शिकायत की लेकिन यहां भी नारी का अपमान ही हुआ।
जब मोहनी ने पुलिस से आप बीती बताई तो पुलिस का कहना था कि अगर तुम्हारा पति एक लड़की के साथ अफेयर करता है तो तुम चार लड़को के साथ अफेयर कर लो ।

एक ऒर हमारे मुख्यमंत्री महिला उत्थान की बात करते है पर जबलपुर की पुलिस द्वारा महिलाओं के साथ ऐसा बर्ताव ?


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!