हाइपो थायरायडिज्म इलाज के धरेलू उपाय..!

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ www.aninewsindia.com

थायरायड ग्रंथि गले के बीच में और सबसे आगे की तरफ होती है।
इससे थायरायड हार्मोन पैदा होता है और इस हार्मोन का मुख्य कार्य शरीर की पाचय क्रियाओं को नियंत्रित करना है।
आजकल थायराइड एक सामान्य बीमारी है और अधिकतर लगभग 55% महिलाओं में यह पाई जाती है।
लक्षण-
जब थायरायड ग्रंथि से थायराइड हार्मोन का स्त्राव कम होता है तो इसे हाइपोथायरोडिज़्म या अंडर एक्टिव थायराइड कहा जाता है।
हाइपोथायरोडिज़्म में
वजन बढ़ना, गर्भपात, बांझपन, शुष्क त्वचा, शुष्क बाल, मानसिक ध्यान की कमी, थकान, चिड़चिड़ापन आदि समस्याएँ होती हैं।
चूंकि थायराइड से बॉडी मेटाबोलिज़्म की कमी हो जाती है इसलिए इससे पूरे शरीर में मेटाबोलिज़्म का स्तर कम हो जाता है।
गर्भवती महिलाओं के लिए यह ज्यादा खतरनाक है क्योंकि इसमें गर्भपात का खतरा रहता है। इससे गर्भधारण के अवसर भी कम हो जाते हैं।
पुरुष और महिलाओं में बांझपन का यह कारण बन सकता है।
इसलिए आपको इनएक्टिव थायराइड ग्रंथि या थायराइड ग्रंथि की खराबी के कारण जानना जरूरी है।
तितली के आकार की थायराइड ग्रंथि – उर्जा और पाचन की मुख्य ग्रंथि है।
यह एक मास्टर लीवर की तरह है जो कि ऐसे जीन्स का स्त्राव करती है जिससे कोशिकाएं अपना कार्य ठीक प्रकार से करती हैं।
हाइपो-थायरायडिज्म या हाइपर-थायराइड दोनों ही धीरे फैलने वाली बीमारियाँ हैं।
लोग कई सालों से इनके लक्षणों से पीड़ित होते हैं लेकिन हमारी पारंपरिक चिकित्सा प्रणाली में इसका कोई इलाज नहीं है और इसे सही ट्रीट नहीं किया जाता,
क्यूँ कि जो शिकायतें आती हैं वो छुट-पुट और अस्पष्ट आती है।
यहाँ तक कि इस बीमारी के परमानेंट इलाज़ के लिए कोई गोली भी नहीं है।
इसमें गलत यह है कि ज्यादातर मामलों में हाइपोथायरायडिज्म शुरू में थायरॉयड की समस्या के रूप में पैदा नहीं होती है –
इम्यून सिस्टम में गड़बड़ी से इसकी शुरुआत होती है लेकिन ज्यादातर डॉक्टर एंटीबॉडी टेस्ट नहीं करते हैं जिससे ऑटो इम्युनिटी दिखाई देती है।
इसलिए
थायराइड का इलाज करने के लिए आपको असंतुलन की जड़ तक जाना जरूरी है।
– दवा लेते हुए लक्षणों को बढ़ते हुए देखना तो एक गलत दिशा में जाने जैसा है।
– चीजें, जो पहुंचा सकती हैं थायरायड ग्रंथि को नुकसान
कुछ कारण जिनसे थायराइड ग्रंथि को नुकसान पहुँच सकता है।
फ्लोराइड युक्त पानी
प्रोटीनयुक्त भोजन जैसे दालें, पनीर, राजमा, चना इत्यादि।
vinod mishra bhopal के लिए इमेज परिणाम
vinod mishra
                 पं.विनोद मिश्रा
                9827334608
           ( आयुर्वेद चिकित्सक)
आरोग्य सेवा शोध एवं कल्याण संस्थान भोपाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *