राफेल डील को लेकर राहुल के आरोपों का अंबानी ने दिया ये जवाब

Spread the love

ANI NEWS INDIAhttp://aninewsindia.com

राफेल डील को लेकर जारी विवाद के बीच उद्योगपति अनिल अंबानी ने कहा है कि बेवजह का विवाद पैदा किया जा रहा है, अंत में जीत सच्चाई की ही होगी. बता दें, राफेल डील के तहत फ्रांस की कंपनी से अंबानी को ही विवादास्पद ठेका मिला है.

रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन, अनिल अंबानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर कहा कि कॉरपोरेट प्रतिद्वंद्वियों और निहित स्वार्थी लोगों ने राहुल को राफेल डील मामले में उनके खिलाफ आरोप लगाने के लिए भ्रमित कर दिया है. अंबानी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उन्होंने राहुल गांधी को इस संबंध में पत्र लिखा है और अपने खिलाफ लगातार निराधार हमलों के लिए अपनी निजी नाराजगी जाहिर की है. अंबानी ने कहा, “मैंने इन हमलों को निराधार और दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.”

‘कांग्रेस के पास है गलत सूचना, सभी आरोप निराधार’

अनिल अंबानी ने यह बात ऐसे समय कही है जब राफेल डील को लेकर वित्त मंत्री अरूण जेटली और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक-दूसरे पर बुधवार को ही ताजा आरोप लगाये. आरोप को आधारहीन और दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए अंबानी ने कहा, ”सचाई की जीत होगी.”

अंबानी से मीडिया ने पूछा था कि राफेल डील मामले में उनकी कंपनी ने 5,000 करोड़ रुपये के मानहानि मामले में कांग्रेस अध्यक्ष को अलग क्यों रखा. इस पर उन्होंने कहा,

अनिल अंबानीमैंने व्यक्तिगत रूप से राहुल गांधी को पत्र लिखा और उनसे कहा है कि कांग्रेस के पास गलत और गुमराह करने वाली सूचना है जो दुर्भावनापूर्ण निहित स्वार्थ और कंपनी प्रतिद्वंद्विता का नतीजा है.

उन्होंने इस सवाल का जवाब टाल दिया कि क्या गांधी के खिलाफ भी मानहानि का मुकदमा करने की जरूरत है, अंबानी ने कहा, ”सभी आरोप बेबुनियाद, गलत सूचना पर आधारित और दुर्भाग्यपूर्ण हैं.”

राफेल डील को लेकर जेटली और गांधी ने एक-दूसरे पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है. गांधी ने इसे अब तक की सबसे बड़ी लूट बताया वहीं जेटली ने फेसबुक ब्लाग पर कांग्रेस अध्यक्ष से 15 सवाल पूछे हैं.

राफेल डील पर झूठ फैलाकर राष्ट्रीय सुरक्षा से खेल रही है कांग्रेस: जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल डील के बारे में कांग्रेस के ऊपर झूठ फैलाने का आरोप लगाया. जेटली ने कहा कि विपक्षी पार्टी और उसके नेता राहुल गांधी फर्जी अभियान चलाकर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं.

जेटली ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर राहुल से 15 सवाल किये. उन्होंने कहा कि 36 राफेल विमान खरीदने के लिए फ्रांस के साथ 10 अप्रैल, 2015 को एनडीए सरकार ने यूपीए सरकार के 2007 के करार की तुलना में बेहतर शर्तों पर समझौता किया.

राफेल डील में अपने दोस्त को बचा रहे हैं ‘सुप्रीम लीडर’-राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त मंत्री अरूण जेटली के आरोपों पर पलटवार किया.राहुल ने जेटली पर आरोप लगाया कि ‘आपके सुप्रीम लीडर’ अपने ‘एक दोस्त’ को बचा रहे हैं.

Rahul Gandhi

@RahulGandhi

Mr Jaitley, thanks for bringing the nation’s attention back to the GREAT ROBBERY! How about a Joint Parliamentary Committee to sort it out? Problem is, your Supreme Leader is protecting his friend, so this may be inconvenient. Do check & revert in 24 hrs. We’re waiting!

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ”जेटली जी, ‘ग्रेट राफेल रॉबरी’ की तरफ राष्ट्र का ध्यान खींचने के लिए धन्यवाद. संयुक्त संसदीय समिति से इसका समाधान होगा? समस्या यह है कि आपके सुप्रीम लीडर अपने मित्र को बचा रहे हैं, इसलिए यह असुविधाजनक हो सकता है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *