कांग्रेस का ‘भारत बंद’ आज: कई विपक्षी पार्टियां शामिल, कितने करोड़ रूपये का नुकसान हुआ

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com/

पेट्रोल और डीजल की बढती हुई कीमत के विरोध में देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने आज केंद्र सरकार के खिलाफ पूरे भारत बंद का ऐलान किया है| कांग्रेस को इस भारत बंद में कुल 21 विपक्षी दलों का समर्थन हासिल है|इसके इलावा कुछ किसानों से जुड़े हुए समाजिक संघठन भी आज भारत बंद में कांग्रेस का साथ दे रहे है|

2019 लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल भारत बंद के द्वारा बीजेपी को अपनी ताकत भी दिखाना चाहते है|दिल्ली में खुद सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी भारत बंद के विरोध में आज राजघाट पर प्रदर्शन करने वाले है|इसके इलावा भारत बंद में अभी तक मिली खबर के अनुसार भारत बंद का सबसे ज्यादा असर बिहार और ओडिशा में देखने को मिला है|

पिछले कुछ समय में भारत बंद करना तो जैसे आम बैट हो चुकी है|अगर किसी को भी सरकार के खिलाफ अपना विरोध दिखाना हो तो वो भारत बंद करने लग जाता है|लेकिन शायद लोग ये नही जानते भारत बंद करने से देश को हजारों करोड़ रूपये का नुकसान होता है|सरकार अनुमान के अनुसार कांग्रेस के भारत बंद से सरकार को हर मिनट 18 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है|अगर एक दिन बात करे तो सरकार के अनुसार कांग्रेस के एक दिन के भारत बंद से भारत सरकार को लघभग 26 हजार करोड़ रूपये का नुकसान होने वाला है|

ये तो सिर्फ सरकार के नुकसान की बात है देश की जनता का कितना नुकसान होगा इसका कोई अनुमान भी नही लगा सकता है|देश में 70 प्रतिशत जनता ऐसी है जो रोज पैसे कमाकर खाना खाती है|जिसमे से बहुत से लोग मजदूरी करते है और बाकि लोग छोटे व्यापारी है जा दूकान चलाते है|जिस दिन भारत बंद हो जाता है जो लोग हर रोज पैसे कमाकर खाना खाते है उन्हें भूखे रहना पड़ता है |क्यूकि,बंद की वजह से उनका सारा काम भी बंद हो जाता है जिसकी वजह से उन्हें उस दिन के पैसे नही मिल पाते है|

अब बड़ा सवाल ये है भारत बंद की वजह से देश का और आम जनता का जो नुकसान हुआ अब उसकी भरपाई कौन करके देगा|क्या भारत बंद का समर्थन करने वाले दल देश के नुकसान की भरपाई देंगे|इतना ही भारत बंद होने की वजह से देश की अर्थव्यवस्था भारी नुकसान भी उठाना पड़ता है|जहाँ डॉलर के सामने रुपया पहले ही बहुत कमजोर चल रहा है एक दिन देश बंद होने की वजह से सरकार को हुए नुकसान की वजह से रूपये की हालत और कमजोर होगी|

लेकिन देश के राजनीतिक दलों देश की चिंता कम है उन्हें सिर्फ अपने वोट और राजनीती से मतलब है देश को कितना नुकसान होता है जा फिर देश की जनता को कितनी तकलीफ होती है इस से किसी भी राजनीतिक पार्टी को कोई फरक नही पड़ता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *