गणेश उत्सव हर्षोल्लास एंव सौहाद्रपूर्वक मनाये जाने हेतु पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने गणेश उत्सव समिति के आयोजके की ली बैठक, दिए आवश्यक दिशा निर्देश

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

जबलपुर। आज दिनॉक 12-9-18 के शाम 5.30 बजे सिंधी धर्मशाला में  गणेश उत्सव समिति के आयोजकों की बैठक पुलिस अधीक्षक जबलपुर, श्री अमित सिंह (भा.पु.से) द्वारा ली गयी।    इस आयोजित बैठक में  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  श्री राजेश तिवारी, डॉ. संजीव उइके, श्री अमृत मीणा, समस्त नगर पुलिस अधीक्षक शहर एवं थाना प्रभारी शहर सहित लगभग 350 गणेश उत्सव समिति के आयोजकगण उपस्थित थे।  

गणेश उत्सव पर्व हर्षोल्लास एवं सौहार्द तथा शान्ति के साथ सम्पन्न कराये जाने के संबंध मे गणेश उत्सव समिति के आयोजकगणों की प्रशासनिक व्यवस्थाओ के सम्बंध में क्या आवश्यकतायें है कि जानकारी ली गयी, तथा पुलिस एंव प्रशासन स्तर पर जो भी हर सम्भव सहायता की जा सकती है को देने का आश्वासन दिया गया।   

पुलिस अधीक्षक जबलपुर, श्री अमित सिंह (भा.पु.से) ने बताया कि जहॉ-जहॉ भी पूर्व मे पर्व के दौरान साम्प्रदायिक विवाद हुये है एवं एक ही स्थान पर पास-पास गणेशजी एवं  ताजिया/सवारी की स्थापना हेतु पण्डाल बनाये जा रहे है, उन स्थानों पर अस्थाई पुलिस चौकी बनायी जायेगी। चौकी में पर्याप्त बल पीए सिस्टम, सीसीटीव्ही कैमरा लगवाया जायेगा, साथ ही 40 मोटर सायकिलो मे सादी वर्दी मे पुलिस कर्मी तैनात किये जायेगे। जो 10 दिन लगातार शहर मे भ्रमण करते हुये आसामाजिक तत्वों पर निगाह रखेंगे।

जबलपुर एक एैसा शहर है जहॉ सभी त्योहार पूरी गरिमा  एवं हर्षोल्लास के साथ वृहृद स्तर पर मनाये जाते है। लगातार बारिश हो रही है जिसे ध्यान मे रखते हुये पण्डाल वाटर पू्रफ बनवाये जिससे पण्डाल मे स्थापित प्रतिमा  को सुरक्षित रखा जा सके, साथ ही दान पेटी को रात्रि मे जब पण्डाल को बंद करते है, सुरक्षित रखवायें। कई बार दान पेटी चोरी होने की घटनायें हो जाती है जिससे विवाद की स्थिति निर्मित होती है, पण्डाल को चारो तरफ कनात से अच्छी तरह घिरवाया जाये ताकि पण्डाल मे कोई मवेशी न घुस सके, कई बार प्रसाद खाने के लिये मवेशी घुस कर प्रतिमा को छतिग्रस्त कर देते है।

सभी को मान्नीय उच्च न्यायालय द्वारा जारी दिशा निर्देश के सम्बंध में जानकारी दी गयी, एवं कहा गया कि हम सभी को शत-प्रतिशत दिये गये निर्देशों का पालन सुनिश्चित करना है।  सभी को यह भी संकल्प दिलाया कि जुलूस आदि के दौरान शराब आदि का सेवन नहीं करेंगे एवं पूजा पण्डालों में धार्मिक गीत ही बजायेंगे, एैसे गीत नहीं बजायेंगे जिससे किसी की भावना आहत न हो।

डीजे पूर्णतः प्रतिबंधित  है, नियमानुसार  2 बॉक्स की ही अनुमति दी जायेगी।  पण्डाल में सीजफायर आवश्यक रूप से रखना सुनिश्चित करें। ताकि छोटी-मोटी अग्नि दुर्घटना को तत्काल नियंत्रित किया जा सके। गणेश उत्सव पण्डाल में 2-2 वालेन्टीयर्स समिति के द्वारा लगाये जायें, जो लगातार 24 घंटे पण्डल एवं उसके आसपास उपस्थित रहें, जिनको भी आपके द्वारा लगाया जाता है उनके मोबाईल नम्बर सम्बंधित थाने मे नोट करा दिये जाये ताकि उनसे लगातार सम्वाद बना रहे।

विधुत साज सज्जा करवाते समय सुनिश्चित करें कि तार कटे-फटे न हो  इससे कभी भी शार्टसर्किट होकर पंण्डाल मे आग लगने की संभावना बनी रहती है।   पण्डाल लगाते समय इस बात का ध्यान रखेंगे कि पण्डाल इस प्रकार से लगाया जावे कि आने जाने वाले आम नागरिको को किसी प्रकार की असुविधा न हो । साथ ही सभी से अपील की गई कि पर्यावरण की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आप सभी प्रतिमाओं का विसर्जन शहर में स्थित तालाबों मे न कर निर्धारित किये गये स्थानों मे ही करे ताकि शहर का पर्यावरण दूषित न हो ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *