सोतेली मॉ एवं बहन ने सुपारी देकर करायी थी गौरव मिश्रा की हत्या, मॉ बेटी सहित 5 आरोपी गिरफ्तार, फरार 1 की तलाश

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

जबलपुर। दिनांक 07.09.18 को  गुंजन तिवारी निवासी सिहोरा द्वारा थाना सिहोरा में रिपोर्ट की गयी थी कि उसका भाई गौरव मिश्रा पिता गिरजा शंकर मिश्रा उम्र 30 वर्ष दिनांक 06.09.18 को सुबह स्लिमनाबाद जिला कटनी जाने का कहकर गया था जो रात में घर नही आया है और उस का मोबाइल भी नही लग रहा है रिपोर्ट पर गुम इंसान क्र0 46/18 कायम कर जांच की गयी ।

जांच के दौरान गौरव मिश्रा के परिजनों द्वारा अनुकंपा नियुक्ति को लेकर तथा संपत्ति को लेकर गौरव मिश्रा की सौतेली मां एंव सौतेली बहन के द्वारा हत्या कराने की शकां जाहिर की गयी थी । गुमइसांन की जाचं के दौरान ही गौरव मिश्रा, सौतेली मां एंव सौतेली बहन के साथ साथ गौरव मिश्रा से जुडे लोगो से पूछताछ की जा रही इसी दौरान दिनांक 14.09.18. को जेल के पीछे डिस्पोजल फेक्ट्री के पास नाला के किनारे गुमइंसान गौरव मिश्रा का डिकम्पोज शव मिलने पर सिहोरा नगर में सनसनी फैल गयी थी।

शव कि  शिनाख्त मृतक के पहने कपडो माला, बेल्ट एंव जूते के आधार  श्रीमति प्रभा मिश्रा  द्वारा मृतक की शिनाख्त पति गौरव मिश्रा के रूप मे किये जाने पर मर्ग क्र0 58/18 धारा 174 जाफौ का कायम कर।  जांच मे लिया गया।  घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) के आदेशानुसार अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. रायसिंह नरवरिया के मार्ग निर्देशन एवं एसडीओपी  सिहोरा श्रीमति भावना मरावी के नेतृत्व में थाना प्रभारी सिहोरा श्री महेन्द्र सिंह चौहान के हमराह टीम का गठन किया गया।

दौरान जांच पर पाया गया कि गौरव मिश्रा द्वारा आखरी बार दिनांक 06.09.18 के रात्रि में संदीप कोरी से बात की गयी है, पूछताछ पर मृतक के परिजन द्वारा संदीप कोरी नाम के किसी व्यक्ति के  विषय में कोई जानकारी नही बतायी गयी ।  संदीप नाम के अंजान व्यक्ति की तलाश तलाश पतासाजी की जा रही थी एवं गौरव मिश्रा से जुडे हर शख्स से पूंछताछ की जा रही थी इसी दौरान गौरव मिश्रा से आखरी बार बात करने वाला संदीप कोरी पुलिस के हत्थे चढ गया जिसने पूंछताछ करने पर पुलिस को काफी गुमराह करने के बाद बताया कि वह पान दुकान चलाता है

गौरव मिश्रा को नही जानता था परन्तु सिहोरा का रहने वाले प्रमोद चौधरी और बाबला ऊर्फ कुमुद राजभर उसके अच्छे मित्र थे जो अक्सर साथ में बैठ कर खाया पिया करते थे इसी खाने पीने के दौरान करीब 2-3 माह पहले प्रमोद चौधरी ने चर्चा की थी कि जाग्रती नगर गोहलपुर की रहने वाली एक महिला और उसकी लडकी सिहोरा के गौरव मिश्रा की हत्या कराना चाहती है और काफी पैसा देने को कह रही है, तब हम तीनो ने राय बनाई कि अच्छा पैसा मिलता है तो काम कर देगें बात करो तब वह एवं प्रमोद मोटर सायकिल से जाग्रती नगर गये थे,

वंहा  दोनो ने महिला से 6 लाख रूपये में गौरव मिश्रा की हत्या करने का सौदा तय किया था, फिर दिनांक 02.07.18 को वह प्रमोद के साथ शाम को जाग्रति नगर महिला के घर जबलपुर जाकर एडवांस में तीन लाख रूपये लेकर वापस आ गया था, शेष 3 लाख रूपये काम होने के बाद मिलना थे,  दोनो के सामने समस्या यह थी कि वे गौरव  को पहचानते नही थे उसने  फेस बुक से गौरव मिश्रा की आईडी से गौरव की फोटो प्राप्त की एवं दिनांक 10.07.18 को  उसने फोटो प्रमोद चौधरी एंव बाबला ऊर्फ कुमुद राजभर की आईडी पर टेग कर गौरव मिश्रा की पहचान करायी

गौरव मिश्रा का मोबाइल नंबर प्राप्त कर गौरव को लगातार फोन करना प्रारंभ कर दोस्ती कर ली, दोस्ती के बाद  गौरव मिश्रा अक्सर  उसकी पान की दुकान पर शाम को आने लगा था। दिनांक 06.09.18 को उसने प्रमोद, बबला के साथ मिलकर  गौरव मिश्रा की हत्या करने की योजना  बनाई  तथा  लगातार गौरव मिश्रा से संपर्क किया एवं शाम पौने सात बजे एंव रात पौने नौ बजे गौरव मिश्रा को अपनी दुकान बुलवाने का प्रयास किया, रात्रि 11.30 बजे गौरव द्वारा  उसको फोन कर बताया गया कि वह दुकान पर रहे आ रहा हूं,

गौरव के आने की सूचना उसने तुरंत  प्रमोद चोधरी को दी, रात्रि 12.00 बजे के लगभग गौरव मिश्रा उसकी पान की दुकान पर आया, वह तुरंत गौरव को लेकर प्रमोद चोधरी के कुर्रे रोड राजीव गांधी ग्राउंड के पास  स्थित कार्यालय ले गया, जंहा पूर्व से ही प्रमोद चौधरी, बाबला ऊर्फ कुमुद राजभर, बीरू चौधरी बैठे हुये थे । शराब पीने के दौरान ही सभी ने मिलकर गौरव की गमछे से गला दबाकर हत्या कर दी,  तथा गौरव का शव उसी की मोटर सायकिल मे रखकर  कुर्रे रोड रेल्वे लाईन के पार ले  जाकर  बाह्य नाला पुलिया के बहते पानी में मोटर सायकिल सहित गौरव मिश्रा का शव फेंक दिया गया था ।

थाना सिहोरा में अपराध क्र0 444/18 धारा 302,201,34,120बी, ताहि का कायम किया गया है  तथा संदीप कोरी  की निशादेही पर नाले से गौरव मिश्रा की मोटर सायकिल बरामद की गयी है । प्रमोद चौधरी  एंव वीरू चौधरी  तथा हत्या के लिये सुपारी देने वाली महिला श्रीमति मधु मिश्रा, एवं मधु मिश्रा की बेटी कु. मयूरी मिश्रा को भी गिरफ्तार किया गया है  तथा प्रमोद के कब्जे से  हत्या की  सुपारी के लिये, लिये गये रूपयों में से दो लाख रूपये तथा अपराध में इस्तेमाल प्रमोद की मोटर सायकिल तथा गमछा जप्त किया गया है ।

थाना सिहोरा

अपराध क्रमांक 444/18 धारा 302,201,34,120बी, भा.द.वि.

गिरफ्तार आरोपी

  • संदीप कोरी पिता रूपचंद कोरी उम्र 30 वर्ष निवासी सोनम ढाबा के सामने सिहोरा 
  • प्रमोद चौधरी पिता शंभू प्रसाद चौधरी उम्र 30 वर्ष निवासी नया मोहल्ला वार्ड न. 1 सिहोरा 
  • वीरू चौधरी पिता मोहन चोधरी उम्र 32 वर्ष निवासी नया मोहल्ला वार्ड न. 1 सिहोरा 
  • श्रीमति मधु मिश्रा पति स्व. गिरिजाशंकर मिश्रा उम्र 48  वर्ष  निवासी जागृति नगर गोहलपुर 
  • कु. मयूरी मिश्रा पिता स्व. गिरिजाशंकर मिश्रा उम्र 22 वर्ष  निवासी जागृति नगर गोहलपुर 

फरार आरोपी

1-  बबला ऊर्फ कुमुद राजभर  निवासी सिहोरा  (बहुजन समाज पार्टी का लोकसभा प्रभारी है)

हत्या का कारण

मृतक गौरव मिश्रा के पिता गिरजा शंकर मिश्रा पशु चिकित्सा विभाग में नौकरी करते थे जिनकी नौकरी के दौरान मृत्यु हो गयी है, मृतक की सौतेली मॉ श्रीमति मधु मिश्रा, एवं सौतेली बहन कु. मयूरी मिश्रा का अनुकम्पा नियुक्ति को लेकर मतभेद चल रहा था, मृतक स्वयं अनुकम्पा नियुक्ति चाहता था जबकि सौतेली मॉ अपनी बेटी कु. मयूरी मिश्रा को अनुकम्पा नियुक्ति दिलाना चाहती थी। दोनो एक दूसरे का एन.ओ.सी. नहीं दे रहे थे।

महत्वपूर्ण भूमिका

थाना सिहोरा क्षेत्र में घटित हुये इस सुपारी किलिंग के मामले को सुलझाने   में थाना प्रभारी सिहोरा महेंद्र सिंह चौहान  उपनिरी0 सतीश तिवारी, उपनिरी0 अनूप दुबे, उपनिरी0 प्रियकां भटट, उपनिरी0 ब्रजेंद्र तिवारी, उपनिरी0  ज्योति लाहोरिया, पीएसआई अजय सिकरवार, म0आर0 शुभांगनी बिलोहा आर0 अजीत मिश्रा, बनवारी राजपूत, राममिलन रजक, सोनू झा, अमित रैकवार, प्रभात मार्को की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *