नकली नोटों के तस्करी एवं निर्माण करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश जप्त किए 31,50,000 के नकली नोट

Spread the love

राजगढ़ जिले में चुनाव  को देखते हुए राजगढ़ जिले के एसपी सुश्री सिमाला प्रसाद को भोपाल आईजी श्रीमान जयदीप प्रसाद एवं डीआईजी श्री मान के.वी. शर्मा साहब ने  सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया था.  वरिष्ठ अधिकारियों के  निर्देश के बाद  राजगढ़ के तेजतर्रार एसपी सुश्री सिमाला प्रसाद ने भी अवैध गतिविधियों व नकली नोटों की तस्करी करने वाले गिरोह का धरपकड़ करने के लिए अभियान प्रारंभ किया है जिसमें  हर प्रकार के अपराधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है.

राजगढ़ जिले की सभी विधानसभा में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव हो इसके लिए  जिला पुलिस को अपने मुखबिर तंत्र को मजबूत करने और  मादक पदार्थ की तस्करी एवं नकली नोटों की तस्करी करने वाले गिरोह पर  कार्यवाही करने हेतु आदेश दिया गया था. इसी दौरान राजगढ़ पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की राजगढ़ जिले में होशंगाबाद से एक गिरोह अल्टो 800 कार से भोजपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत जाली नोटों को बाजार में चलाने के लिए आया है.

जिस पर राजगढ़ एसपी सुश्री सिमाला प्रसाद के आदेश पर व एडिशनल एसपी नवल सिंह सिसोदिया के निर्देशन में एवं एसडीओपी खिलचीपुर निशा रेडी के मार्गदर्शन में थाना भोजपुर टीम द्वारा दबिश की कार्यवाही की गई. इसके लिए तीन टीमों का गठन किया गया.

एक टीम भोजपुर थाना प्रभारी उपनिरीक्षक उमेश यादव के नेतृत्व में गठित की दूसरी टीम उप निरीक्षक जितेंद्र अजनारी के नेतृत्व में तथा तीसरी टीम उप निरीक्षक राम कुमार रघुवंशी के नेतृत्व में गठित की.  जिसके बाद योजनाबद्ध तरीके से दबिश देकर *तीन आरोपीयों सुशील विश्वकर्मा, नाशीर खां व रामबाबू मीणा को अल्टो 800 कार सहित कब्जे में लिया गया. जिनसे मौके पर ही ₹14,93,000 के नकली नोट बरामद किए गए.

जिनमें बड़ी मात्रा में ₹2000 और ₹500 रूपये क नकली नोट थे.  जिस पर से थाना भोजपुर पर अपराध क्रमांक 233/18 धारा 489 ए, 489 बी, 489 सी व 34  भादवि  व 25 आर्म्स एक्ट की धारा का अपराध पंजीबद्ध किया तीन आरोपियों से सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपियों ने बताया कि उनके दो अन्य साथी रईस खान व संतोष राणा होशंगाबाद के बाबई थाना क्षेत्र के अंतर्गत अभी भी नोटों की छपाई कर रहे हैं.

हम उन्हीं से यह नोट लेकर  भोजपुर में चलाने आए थे. घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद के दी जिस पर एसपी साहब ने तत्काल रवाना होकर अन्य आरोपीगण को गिरफ्तार करने व इस पूरे गिरोह का पर्दाफ़ाश करने के निर्देश दिये जिसके बाद  पुलिस की एक टीम आरोपी को लेकर रात को ही मय फोर्स के होशंगाबाद रवाना हुई. जहां से आरोपी द्वारा बताए पते पर पहुंच कर दबिश दी. जहां पर दो अन्य आरोपी रईस व संतोष नोट छापते व नोटों की कटिंग करते मिले. जिन्हें पुलिस ने नकली नोटों की गड्डीओं के साथ व लैपटॉप, प्रिंटर व स्याही नोट पेपर नोटों की प्रिंट की हुई शीट जब्त कर आरोपीयों को गिरफ्तार किया.

होशंगाबाद से लगभग ₹ 1619000 की नकदी प्राप्त हुई

जिसमें भी दो हजार और 500 के नकली नोट थे. *कुल नकली नोटों की नगदी ₹31,12, 000 है* जो मश्रुका को मिलाकर 35,93, 800  रूपये है जिसमें अल्टो कार 800 प्रिंटर लैपटॉप कीबोर्ड पिस्टल आदि सामग्री शामिल  है.   इन पांचों आरोपियों से पूछताछ करने पर ज्ञात हुआ कि भोपाल का मुस्ताक नाम का व्यक्ति इन नोटों को लेकर कहीं डिलीवरी करने वाला था. साथ ही होशंगाबाद में भी एक और वीरेंद्र पटेल नाम का व्यक्ति भी बाजार में नकली नोटों की सप्लाई करने के लिए गया हुआ है इन दोनों आरोपियों की तलाश जारी है.

राजगढ़ एसपी सिमाला प्रसाद  साहब के इस शख्स अभियान से न केवल राजगढ़ जिले में बल्कि संपूर्ण मध्यप्रदेश राज्य के चुनाव में लगी पुलिस की सक्रियता मानी जावेगी.  साथ ही संपूर्ण राज्य में  सक्रिय इस तरह की  अन्य गैंग में  भय व्याप्त हुआ है जो निश्चित रूप से निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

राजगढ़ एसपी सुश्री सिमाला प्रसाद के इस अभियान की  पुलिस महकमे के आला अधिकारियों द्वारा प्रशंसा की जा रही है जिससे राजगढ़ पुलिस का मनोबल बड़ा है.  उक्त कार्य में सउनि राधेश्याम ठाकुर व आर. सतीश यादव आर. मोइन खान आर.मनोज आर. चेतन आर. फतेह सिंह आर.नवदीप आर. गिर्राज आर.राजकुमार आर. खैमेंद्र आर.दिनेश की महत्वपूर्ण भूमिका रही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *