पढ़े पूरी कथा : ‘5 स्टार गुंडा’ के खिलाफ लुकआउट नोटिस के बाद कोर्ट का गैर-जमानती वारंट

Spread the love

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के पूर्व सांसद राकेश पांडे के बेटे आशीष पांडे के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया है. बीते 13 अक्टूबर की आधी रात को दिल्ली के फाइव स्टार हयात होटल में आशीष पांडे ने खुलेआम पिस्तौल लहरा कर एक जोड़े को धमकाया था.

इस घटना का वीडियो मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस हरकत में आई थी. दिल्ली पुलिस और यूपी एसटीएफ की कई टीमें इस समय भी आशीष पांडे की तलाश में दिन-रात एक किए हुए हैं. गोंडा, बस्ती, अंबेडकरनगर से लेकर नेपाल बॉर्डर तक आशीष पांडे की तलाश की जा रही है. फरार आशीष पांडे लगातार अपना लोकेशन बदल रहा है.

आशीष पांडे की तलाश में दिल्ली पुलिस के साथ यूपी पुलिस की भी कई टीमें लगी हुई हैं. दिल्ली पुलिस ने कुंवर गौरव सिंह नाम के शख्स के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है. कुंवर गौरव सिंह और उनकी एक मित्र से ही आशीष पांडे की 13 अक्टूबर की रात कहा-सुनी हुई थी. गौरव ने सोशल मीडिया पर आकर एक बयान जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि गुलाबी पतलून पहने एक शख्स ने उन्हें होटल हयात में जान से मारने की धमकी दी थी.

पीड़ित कुंवर गौरव सिंह ने बताया क्या हुआ था उस रात

गौरव अपने साथ घटी घटना का वर्णन करते हुए कहते हैं, ‘13 अक्टूबर की रात को मैं अपने एक दोस्त के साथ खाना खाने गया था. जब हमलोग खाना खाने बैठे तो मेरी दोस्त ने कहा कि मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा है. वो उठकर वॉमटिंग (उल्टी) करने वॉशरूम की तरफ चल दी. उसने मुझे भी वॉशरूम (बाथरूम) के गेट तक साथ चलने को कहा. मैं लेडिज़ बाथरूम के गेट पर ही खड़ा था तभी 3 लड़कियां वहां पर आईं. वो तीनों शराब के नशे में मुझे गाली देने लगीं. मैंने तब भी चुप रहना ही मुनासिब समझा और होटल स्टॉफ से अपने दोस्त को मदद करने को कहा. उन तीनों लड़कियों ने बाथरूम के अंदर मेरे दोस्त के साथ भी गाली-गलौच और बदतमीजी की. इससे वो काफी डर गई. मेरी दोस्त स्टॉफ की मदद से किसी तरह वॉशरूम से बाहर निकली. मैंने देखा वो बुरी तरह रो रही है.

हयात रिजेंसी होटल

कुछ देर बाद हमलोगों ने होटल से जाने का फैसला किया. लेकिन वो लोग होटल के गेट पर भी मेरा इंतजार कर रहे थे. उन लोगों ने एक बार फिर से मुझे और मेरी दोस्त को गाली देना शुरू कर दिया. लड़कियों के साथ एक युवक हमें धमकाने लगा. वो बार-बार जान से मारने की धमकी दे रहा था. मैं लड़ाई करने के मूड में नहीं था. गेट पर खड़े होटल के स्टॉफ ने मुझे बचाया. इस घटना के बाद मैं अपनी जिदगी के लिए काफी डर गया हूं. मैं अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं.’

कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था. इसके वायरल होने के बाद ही दिल्ली पुलिस हरकत में आई. आशीष पांडे की तलाश में यूपी और दिल्ली पुलिस की कई टीमें लगातार दबिश में लगी हुई हैं. दिल्ली पुलिस द्वारा आशीष पांडे की मोबाइल लोकेशन लगातार मॉनीटर की जा रही है. गिरफ्तारी से बचने के लिए वो लगातार अपना लोकेशन बदल रहा है. अभी तक आशीष का लोकेशन लखनऊ, बस्ती और अंबेडकरनगर के पास था. बुधवार सुबह 11 बजे भी उसका लोकेशन अंबेडकरनगर में था. जिसके बाद से उसने उसने अपना मोबाइल नंबर बंद कर रखा है. मंगलवार को मामला सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने आशीष पांडे के घर छापा भी मारा था. पुलिस ने घरवालों से आशीष के बारे में पूछताछ कर जानकारी हासिल करने की कोशिश की थी.

आशीष के पुराने इतिहास को खंगालने में जुटी है दिल्ली पुलिस

इसके अलावा दिल्ली पुलिस आशीष के पुराने इतिहास को खंगालने में जुटी हुई है. दिल्ली पुलिस को पता चला है कि आशीष वर्ष 2016 में भी लखनऊ पुलिस के कब्जे में आया था. लखनऊ के पॉश गोमतीनगर में आशीष ने अपनी महंगी मर्सिडीज़ गाड़ी से रेनेसां होटल के सामने एक गाड़ी को टक्कर मार दी थी. मगर तब आशीष पांडे अपने रसूख के दम पर लखनऊ पुलिस के चंगुल से किसी तरह बचकर निकल गया था.

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि यूपी के डीजीपी के निर्देश पर आशीष पांडेय की तलाश में यूपी एसटीएफ की कई टीमें तैनात की गई हैं. राज्य के कई जिलों में आशीष की तलाश में यह टीमें छापा मार रही हैं. लेकिन अभी तक पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में कामयाबी नहीं मिली है.

एक तरफ पुलिस सूत्र कह रहे हैं कि आशीष की गिरफ्तारी जल्द ही हो जाएगी तो दूसरी तरफ कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में आशीष के हवाले से कहा जा रहा है कि वो सरेंडर करेगा. ऐसा कहा जा रहा है कि आशीष शुक्रवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में आत्मसमर्पण कर देगा.

मंगलवार को वीडिया सामने आने के बाद ही दिल्ली पुलिस आशीष पांडे को गिरफ्तार करने के लिए लखनऊ पहुंची थी. लखनऊ में आशीष के 5 ठिकानों पर दिल्ली पुलिस की टीम ने छापा भी मारा था, लेकिन वो कहीं नजर नहीं आया. दिल्ली पुलिस ने आशीष पांडे की तलाश में मंगलवार रात देश भर के एयरपोर्ट पर लुकआउट नोटिस जारी किया था.

दिल्ली पुलिस की प्रतीकात्मक तस्वीर

इस घटना पर काफी बारीकी से नजर रख रहे दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बात करते हुए कहते हैं, ‘देखिए दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस के काम करने का स्टाइल काफी अलग है. मैं यह नहीं कह रहा हूं कि यूपी पुलिस इस समय राजनीतिक दबाव में काम कर रही है. यूपी पुलिस का काफी सहयोग मिल रहा है. हमलोग खुद इस मामले को गंभीरता से ले रहे हैं. अगर आगे जरुरत पड़ी तो परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उस रात आशीष के साथ मौजूद तीनों लड़कियों से भी दिल्ली पुलिस पूछताछ कर सकती है. दिल्ली में सरेआम इस तरह से पिस्टल दिखा कर आप खौफ पैदा नहीं कर सकते चाहे आप कितने ही रसूखदार क्यों न हों? मैं अभी सिर्फ इतना ही कह सकता हूं कि आशीष जल्द ही हमारे शिकंजे में होगा.’

काफी रसूखदार है आरोपी आशीष पांडे का परिवार

बता दें कि आशीष पांडे बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के पूर्व सासंद राकेश पांडे का बेटा है. आशीष के चाचा पवन पांडे भी शिवसेना के एमएलए रह चुके हैं. आशीष के सबसे छोटे चाचा कृष्ण कुमार पांडे कांग्रेस के नेता हैं. आशीष का छोटा भाई रितेश पांडे वर्तमान में यूपी के जलालपुर से बीएसपी का विधायक है.

कहा जा रहा है कि दिल्ली पुलिस आशीष के राजनीतिक रसूख को देखते हुए फूंक-फूंक कर कदम रख रही है. आशीष के फेसबुक प्रोफाइल में भी दिखता है कि वो काफी रंगीन मिजाज का शख्स है. ऐसा प्रतीत होता है कि वो हथियारों का बहुत शौकीन है या फिर हथियारों की कोई दुकान चलाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *