निर्वाचन कार्यों में कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी- जिला निर्वाचन अधिकारी

Spread the love

ब्यूरो चीफ गाडरवाराजिला नरसिंहपुर // अरुण श्रीवास्तव : 91316 56179

नरसिंहपुर | 17-अक्तूबर-2018 0 कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अभय वर्मा ने निर्देश दिये हैं कि सेक्टर अधिकारी सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन समय सीमा में पूरी गंभीरता से करें। निर्देशों का अक्षरश: पालन करें। सौंपे गये दायित्वों में कोई भी कोताही या ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी और संबंधित के विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी।

श्री वर्मा ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में शासकीय अमला पूरी तरह निष्पक्ष रहे और निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो। वे ऐसा कोई कार्य नहीं करें, जिससे ऐसी आशंका भी हो कि वे किसी दल या प्रत्याशी की मदद कर रहे हैं। किसी भी नये कार्य की न तो स्वीकृति ही दी जाये और ना ही कोई नया कार्य शुरू किया जावे।

श्री वर्मा निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों, जिला प्रमुखों, सेक्टर एवं नोडल अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। यह बैठक जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित की गई। उन्होंने आयोग के निर्देशानुसार संपत्ति विरूपण के विरूद्ध तत्परता से कार्रवाई करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन तत्परता व सतर्कता से सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने कहा कि सभी मतदान केन्द्रों को आदर्श मतदान केन्द्र बनाया जाना है। इसके लिए सभी मतदान केन्द्रों में मूलभूत सुविधायें रहनी चाहिये। मतदान केन्द्रों में रैम्प, फर्नीचर, बिजली, टायलेट, छाया, पीने के पानी, बैठने की व्यवस्था, व्हीलचेयर आदि से संबंधित सभी व्यवस्थायें पुख्ता रहें। मतदाताओं को वोट डालने के लिए कतार में नहीं लगना पड़े, इसके लिए प्रबंध किये जावें। मतदाता चौपाल का आयोजन मतदान केन्द्र के सभी आश्रित गांवों में किया जावे।

मतदाताओं को वोट डालने के लिए प्रेरित करें। शतप्रतिशत मतदान कराने के लक्ष्य पर फोकस करें। मतदाता जागरूकता के लिए विभिन्न गतिविधियां संचालित की जायें, इसके लिए नवाचार किये जावें। कम्युनिकेशन प्लान अद्यतन रहे। सम्पत्ति विरूपण के प्रकरण दर्ज करायें। उन्होंने सभी सेक्टर अधिकारियों से निर्वाचन संबंधी ट्रेनिंग अच्छे से प्राप्त करने के लिए कहा। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आरपी अहिरवार ने बताया कि अब प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 10 पिंक बूथ बनाये जायेंगे।

इसमें सभी निर्वाचन कार्मिक महिलायें होंगी। इसके साथ ही प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के नगरीय इलाकों में एक मतदान केन्द्र दिव्यांग के लिए होगा। यह मतदान केन्द्र रिटर्निंग अधिकारी मुख्यालय के शहरी क्षेत्र में बनाया जायेगा। उन्होंने मतदाता जागरूकता के लिए माइक्रो लेबिल पर कार्य योजना तैयार कर डोर- टू- डोर अभियान चलाने पर जोर दिया। प्रो. राजहंस ने बताया कि प्रत्येक मतदान केन्द्र पर हेल्पडेस्क बनाई जानी है।

उन्होंने डाकमत पत्र के बारे में और अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर जानकारी दी। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी जे समीर लकरा, एसडीएम महेश कुमार बमनहा, डिप्टी कलेक्टर मो. शाहिद खान व संघमित्रा बौद्ध, विभिन्न विभागों के जिला प्रमुख, सेक्टर अधिकारी, नोडल अधिकारी, जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *