सिवनी : भ्रष्ट पटवारी शिवकुमार टेम्भरे ने डकारे 83 हजार रूपये वृद्ध महिला कृषक के मुआवजे के 83 हजार के गबन का मामला

Spread the love

 

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ सिवनी // देवराज डहेरिया : 94256 51310

सिवनी। विगत दिनों प्राकृतिक आपदा की मार -हजयेल रहे कृषकों को शासन द्वारा मुआवजा राशि स्वीकृत की गई वहीं पीडि़त कृषकों की व्यथा को परे रखकर राजस्व विभाग के कुछ भ्रष्ट पटवारियों ने मौके का फायदा उठाकर शासन प्रशासन की आंखों में धूल -हजयौंककर किसानों की मुआवजा राशि को अपने चहेतों के खाते में डालकर लाखों रूपये का गबन किया है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सिवनी जिले के केवलारी तहसील के अंतर्गत ग्राम दुधिया हल्का पटवारी शिवकुमार टेम्भरे के द्वारा किये गये गबन के आरोप का मामला प्रकाश में आया है। इस संबंध में हमारे प्रतिनिधि देवराज डेहरिया द्वारा उक्त पूरे मामले की पड़ताल की गई तो उक्त पटवारी की कार्यप्रणाली संदेहास्पद पायी गई। ज्ञात होवे कि विगत वर्ष पूर्व ओलावृष्टि से किसानों की रवि की फसल पूर्णतः नष्ट हो गई थी जिसकी मुआवजा राशि सीधे किसानों को उनके बैंक खाते में जमा किया जाना था।

जिसे हल्का पटवारी शिवकुमार टेम्भरे द्वारा जालसाजी कर दूसरे किसान से मिलिभगत कर पीडि़त किसान की मुआवजा राशि डकार ली गई है। ग्राम पिपरिया कला निवासी पीडि़त वृद्ध महिला कृषक बिरनिया बाई जो कि अपने पति की मृत्यु पश्चात आर्थिक तंगी में अपने दिन काट रही है, नेे अपनी आपबीती सुनाते हुये पटवारी शिवकुमार टेम्भरे पर गंभीर आरोप लगाते हुये तहसीलदार केवलारी को दी गई शिकायत में कहा है कि मेरी कृषि भूमि ग्राम दुधिया प.ह.नं. 08 रा.नि.मं. पलारी तहसील केवलारी में भूमि खसरा नं. 70, 84, रकवा 1.57, 1.52 कुल रकवा 3.09 हेक्टेयर भूमि उनकी तीन पुत्रियों समेत 04 के नाम से शामिल सरीक खाते में दर्ज है।

उक्त भूमि में गेहूं की फसल लगाई गई थी जो कि ओलावृष्टि में पूर्णतः नष्ट हो गई थी, जिसमें शासन द्वारा फसल क्षति की मुआवजा राशि 83 हजार चार सौ तीस रूपये स्वीकृत हुये जिस पर पीडि़त कृषक बिरनिया बाई द्वारा अपना बैंक खाते की छायाप्रति संबंधित हल्का पटवारी को दी गई थी किन्तु पटवारी द्वारा वृद्ध महिला कृषक के अशिक्षित एवं असहाय होने का फायदा उठाकर अपने चहेते किसान के खाते में जमा करवाकर उक्त राशि का बंदरबांट कर दिया गया है।

जब पीडि़ता द्वारा उक्त पटवारी से अपने बैंक खाते में मुआवजा की राशि प्राप्त न होने कि शिकायत की गई तो पटवारी द्वारा विगत कई महिनों से पीडि़ता को गुमराह कर राशि खाते में डलवाने का -हजयूठा आस्वाशन दिया जाता रहा। जब पीडि़ता द्वारा अत्यधिक परेशान होकर उक्त घटनाक्रम की शिकायत सी.एम. हेल्पलाईन में की गई तो पीडि़ता को उक्त मुआवजा राशि ग्राम दुधिया निवासी गिरजा बाई पति हरिओम भलावी के खाते में जमा किये जाने की जानकारी प्राप्त हुई।

उक्त पटवारी द्वारा जानबू-हजयकर ग्राम दुधिया निवासी गिरजा बाई पति हरिओम भलावी का खाता दूरस्थ बैंक ऑफ महाराष्ट्र शाखा उगली में तत्काल खुलवाकर उक्त मुआवजे की राशि जालसाजी कर जमा करवा दी गई थी ताकि पीडि़ता को इसकी कानो कान कोई खबर न लगे। जबकि दुधिया एवं पिपरिया कला ग्राम की सेवाक्षेत्र बैंक पलारी एवं केवलारी है। इससे स्पष्ट होता है कि उक्त पटवारी द्वारा गिरजा बाई पति हरिओम भलावी के साथ मिलकर उक्त पीडि़ता की मुआवजे की राशि को षड़यंत्रपूर्वक हजम कर ली गई। इस संबंध में पटवारी से पूछे जाने पर आनाकानी करते हुये किसी भी प्रकार का संतोषप्रद जबाव नहीं दिया गया।

सोचनीय विषय यह है कि राजस्व विभाग के तमाम नियम कानून को बलाये ताक में रखकर भ्रष्ट पटवारी शिवकुमार टेम्भरे द्वारा किये जा रहे गोलमाल के बाद भी संबंधित आलाधिकारियों द्वारा अभी तक इस गंभीर मामले की शिकायत को लेकर कोई वैधानिक कार्यवाही नही की गई है जिससे स्पष्ट प्रतीत होता है कि उक्त पटवारी द्वारा किये गये भ्रष्टाचार में उच्चाधिकारियों की भी मिलिभगत है। वहीं पीडि़ता द्वारा कलेक्टर से मुआवजा दिलाने एवं उक्त पटवारी पर कठोर कार्यवाही करने की गुहार लगाई है। अब देखना यह है कि जिले के संवेदनशील कलेक्टर द्वारा उक्त मामले को संज्ञान में लेकर दोषियों पर कार्यवाही कर पीडि़ता कृषक को न्याय दिलायेंगे ?

इनका कहना है

इस मामले की शिकायत मेरे समक्ष आई है जांच की जाकर दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जावेगी, एवं उक्त पीडि़ता भूमि स्वामी को मुआवजा राशि दिलाई जावेगी। मोहम्मद सिराज खान तहसीलदार केवलारी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *