फ्लिपकार्ट के सीईओ बिन्नी बंसल ने दिया इस्तीफा, यौन दुर्व्यवहार के लगे आरोप

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

 

‘यौन उत्पीड़न की शिकायत’ के 2 साल बाद क्यों नपे फ्लिपकार्ट CEO

वॉलमार्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘बिन्नी बंसल ने आज फ्लिपकार्ट समूह के सीईओ पद से तत्काल इस्तीफे की घोषणा की। बिन्नी कंपनी की सहस्थापना के वक्त से ही अहम हिस्सा रहे हैं, लेकिन हालिया घटनाक्रम को लेकर बिन्नी ने पद से इस्तीफा देने का फैसला किया।

नई दिल्ली देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के सीईओ बिन्नी बंसल ने यौन दुर्व्यहार के आरोप पर अपने पद से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी का वॉलमार्ट की ओर से अधिग्रहण किए जाने के महज 6 महीने बाद यह आश्चर्यजनक घटनाक्रम देखने को मिला है। बता दें कि बिन्नी बंसल ने अपने पुराने मित्र सचिन बंसल के साथ मिलकर फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी, लेकिन सचिन ने कंपनी के बिकने के समय ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है कि बिन्नी बंसल इस्तीफे के बाद कंपनी के बोर्ड में बरकरार रहेंगे या नहीं।

मामले की जानकारी रखने वाले लोगों ने रॉयटर्स को बताया कि यौन दुर्व्यहार का मामला कुछ साल पहले का है। सूत्र ने बताया, ‘जुलाई में बिन्नी के खिलाफ यौन दुर्व्यहार का आरोप हमारे सामने आया था। उन्होंने बताया कि जिसने आरोप लगाया था वह फ्लिपकार्ट की पूर्व कर्मी थीं और आरोप लगाने के वक्त वह कंपनी में नहीं थीं। सूत्र ने बताया कि जांच में आरोप की पुष्टि नहीं हो सकी है। हालांकि, बिन्नी की तरफ से पारदर्शिता में कमी सामने आई।

स्ट्रीट इनसाइडर वेबसाइट की रिपोर्ट में कहा गया, ‘गंभीर निजी दुर्व्यवहार के आरोपों के बाद फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट की ओर से की गई स्वतंत्र जांच के बाद बिन्नी ने यह फैसला लिया है। उन्होंने पूरी मजबूती के साथ आरोपों को खारिज किया था। इस पूरी जांच के दौरान बिन्नी ने जिस तरह से व्यवहार किया उससे उनका पक्ष कमजोर दिखा और पारदर्शिता का अभाव नजर आया। इसके बाद हमने उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया।

वॉलमार्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘बिन्नी बंसल ने आज फ्लिपकार्ट समूह के सीईओ पद से तत्काल इस्तीफे की घोषणा की। बिन्नी कंपनी की सहस्थापना के वक्त से ही अहम हिस्सा रहे हैं, लेकिन हालिया घटनाक्रम को लेकर बिन्नी ने पद से इस्तीफा देने का फैसला किया। उनका फैसला फ्लिपकार्ट और वॉलमार्ट की तरफ से एक स्वतंत्र जांच के बाद आया है। उनपर व्यक्तिगत दुर्व्यहार का आरोप लगा था, जिसकी जांच चल रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *