संसद में गूंजा कोलकाता का मामला, बंगाल के चीफ सेक्रेटरी को नोटिस देने की तैयारी में CBI

Spread the love

कोलकाता में केंद्र सरकार और सीबीआई के खिलाफ धरने पर बैठी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का धरना बीते रात से जारी है। करीब 10 घंटे से धरने पर बैठी ममता बनर्जी रात भर जागती रही। इस दौरान उन्होंने खाना खाने से भी मना कर दिया। अपने इस धरने का सत्यागह नाम देने वाली ममता बनर्जी के साथ बाकी के वरिष्ठ नेता भी साथ में जागते रहे।

मालूम हो कि बीते रात पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत की और इस दौरान बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश को बचाने के लिए उनका सत्याग्रह जारी रहेगा। मैं किसी चीज से नहीं डरती। वे आपातकाल से भी बदतर तरीके से काम कर रहे हैं। उन्हें यह अच्छी तरह से पता होना चाहिए कि अब भारतीय जनता पार्टी 2019 में वापस सत्ता में नहीं आने वाली है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आगे कहा कि हम जल्द ही इस बात को तय करेंगे कि आगे क्या करना है, लेकिन यह धरना जारी रहेगा और हम यहां से हटेंगे नहीं। उनकी फोन पर कई नेताओं बातचीत हुई है। वहीं इनमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, गुजरात के नेता जिग्नेश मेवाणी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ शामिल हो सकते हैं।

आपको बता दें, सारदा और रोजवैली चिटफंड घोटाले के सिलसिले में सीबीआई की एक टीम बीते देर शाम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजवी कुमार के घर पहुंची थी। इस दौरान पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी समेत राज्य पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और पुलिस ने सीबीआई के अफसरो को गिरफ्तार कर लिया, हालांकि बाद में इन अफसरो को 2-3 घंटों के बाद छोड़ दिया गया, लेकिन बाद में पश्चिम बंगाल की सीएम ने मोदी सरकार की राजनीतिक साजिश बताते हुए मेट्रो चैनल पर राजीव कुमार के साथ धरन पर बैठ गई है। वहीं  सीबीआई ने अब बंगाल के चीफ सेक्रेटरी को अवमानना नोटिस देने की तैयारी में है, हालांकि दूसरी तरफ संसद में इस मामले पर काफी हंगामे देखने को मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *