शहीद बादल सिंह का पार्थीव शरीर नागदा पंहुचा , तीन साल के बेटे को गोद में लेकर पत्नी ने शहीद पति को दी सलामी

Spread the love

ANI News india: http://aninewsindia.com

ANI News india: जिला ब्यूरो चीफ उज्जैन // विष्णु शर्मा : 8305895567

नागदा का लाल सियाचिन में शहीद: बर्फ धंसने से हुआ था हादसा. तीन वर्ष के बेटे ने दी मुखाग्नि

प्रदेश का लाल सियाचिन में शहीद हो गया . ग्लेशियर पर बर्फ धंसने से ये हादसा हुआ. दो दिन में पार्थिव देह उनके पैतृक निवास पर पहुंची .

नागदा ज.। सियाचिन में बुधवार शाम को शहीद हुवे सैनिक बादल सिंह चंदेल का पार्थिव शरीर शनिवार सुबह 11 बजे जन्म स्थल नागदा पंहुचा | शहीद के निवास स्थल पर हजारो की तादात में जन समुदाय शहीद की शहादत को सलामी देने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी | शहीद की शहादत पर उस समय पूरा शहर गमिगीन गो गया पुरे नागदा शहर में देश भक्ति गीत के साथ ही भारत माता की जय एव जब तक सूरज चाँद रहेगा बादल तेरा नाम रहेगा के नारे लगते रहे |अपने पिता की शहादत पर तीन साल के बेटे विमान को जब शहीद की पत्नी दीपिका चंदेल ने कर बात अनभिग्य मासूम बेटे को अपनी गोद में उठाकर देश पर कुर्बान अपने शहीद पति को सलामी दी |

प्रदेश का जवान बलवंत सिंह सियाचिन में बुधवार को शहीद हो गया थे . नागदा निवासी बादल सिंह सियाचिन ग्लेशियर में तैनात थे. अचानक बर्फ धंसने से वे शहीद हो गए थे . बादल सिंह के परिवार में माता-पिता, पत्नी और तीन साल का बेटा है.सियाचिन में 27 हजार फीट पर ग्लेशियर में तैनात थे बादल सिंह नागदा के रामसहाय मार्ग निवासी 2004 में सेना में शामिल हुए थे. बादल सिंह ढाई साल तक शांति सेना में दक्षिण अफ्रीका में अपनी सेवाएं दे चुके थे. 15 कुआऊं रेजिमेंट के नायक बादल सिंह हाल ही में जनवरी में नागदा आए थे. 13 फरवरी को ही वे वापस अपनी ड्यूटी पर गए थे. उन्हें सियाचिन में 27 हजार फीट ऊपर ग्लेशियर में तैनात किया गया था. बीती रात करीब सवा 10 बजे फोन आया कि बर्फ धंसने से बादल सिंह गंभीर रुप से घायल हो गए हैं.शहीद बादल सिंह के भाई विक्रांत सिंह नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की गोलीबारी में सेना का जवान शहीद सियाचिन में तैनात थे बादल सिंह गुरूवार सुबह ग्लेशियर में मौजूद सूबेदार प्रताप सिंह ने बताया कि बादल सिंह शहीद हो गए हैं. शहीद को आज सुबह सियाचिन की चौकी से नीचे लाया गया है. शहीद की पार्थिव देह को दिल्ली लाया जाएगा. दिल्ली से उन्हें इंदौर लाया जाएगा. महू रेजिमेंट शहीद के शव को लेकर नागदा पहुंचेगी. दो दिन में शहीद की पार्थिव देह नागदा पहुंचेगी. बादल का विवाह 2017 में हुआ था. उनका तीन साल का एक बेटा है.|
शहीद बादल सिंह चंदेल के निवास पर केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोद समेत कई राजनेता श्रधान्जली देने पहुचे जिनमे सांसद अनिल फिरोजिया , पूर्व केबिनेट मंत्री जीतू पटवारी ,विधायक दीलिप सिंह जर्जर ,विधायक महेश परमार ,विधायक बहादुर सिंह चोहान , असंघ्थित कामगार कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सुलतान सिंह शेखावत इत्यादि लोगो ने शहीद को श्रधांजलि दी |
भारतीय सेना के अधिकारी लेकर आये शहीद बादल का पार्थीव शरीर : नागदा के वीर सपूत बादल सिंह चंदेल का पार्थिव शरीर सियाचिन के बर्फीली वादियों से हवाई मार्ग से होते हुवे पहले दिल्ली पंहुचा जिसके बाद दिल्ली से इंदौर के महू सेना प्रमुख मुख्यालय पर लाया गया जहा से इंदौर सड़क मार्ग से होते हुवे नागदा लाया गया वाही शहीद बादल का इंदौर में भी जनसमुदाय ने अपने श्रधा सुमन अर्पित करते हुवे बादल सिंह चंदेल की शहादत की नमन कर श्रधांजलि दी |शहीद बादल के सम्मान में इंदौर से लेकर नागदा तक सैकड़ो स्वागत मंच बनाए गए थे | वाही सेना के खुले वाहन में भारत की आन बान ओर शान देश का तिरंगा लहराता हुवा देश भक्ति गीतों की गुंज पुरे वातावरण को ग़मगीन कर रही थे . सभी के मन में बादल की तस्वीर घूम रही थी ओर पूरा शहर बादल की सहादत की सलामी देने निवास स्थल की ओर रवाना हो गया सामजिक रस्म के बाद शहीद बादल का पार्थीव शरीर शहर भ्रमण के लिए रवाना हुवा .शहीद की अंतिम यात्रा में पूरा नागदा एव आस पास के इलाको के लोग अपने हाथो में तिरंगा लेकर बादल सिंह के नाम के नारे लगाते हुवे चल रहे थे .शहर की बिल्डिगो पर से शहीद की शव यात्रा पर पुष्प वर्षा की जा रही थी .वाही वह गीत तुम घर कब आओगे …………!


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!