अब जानवरों में कोरोना : 8 एशियाई शेरों को हुआ कोरोना, चिड़ियाघरों और नेशनल पार्क्स को बंद करने का आदेश

Spread the love

ANI NEWS INDIA

बीते कई दिनों से देश कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है। अब तक देश में कोविड की वजह से दो लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। हालांकि, अभी तक यह वायरस सिर्फ इंसानों में ही पाया जा रहा था, लेकिन हैदराबाद में एशियाई शेरों में संक्रमण मिला है।

हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क (एनजेडपी) में आठ एशियाई शेर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि, ये सभी शेरों की तबीयत ठीक है और धीरे-धीरे रिकवर कर रहे हैं। जानवरों में कोविड-19 होने का देश में यह संभवत: पहला मामला है।

इन शेरों की पिछले महीने आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाया गया था, जिसकी रिपोर्ट में ये संक्रमित निकले हैं। वहीं, शेरों के कोविड पॉजिटिव मिलने के बाद देशभर के चिड़ियाघरों और नेशनल पार्क्स को बंद करने का निर्देश दिया गया है।

29 अप्रैल को सेंटर फॉर सेलुलर एंड मॉलेक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) ने एनजेडबी के अधिकारियों को बताया था कि ये शेर पॉजिटिव हैं। एनजेडपी के डॉ. सिद्धानंद कुकरेती ने रिपोर्ट को कंफर्म करते हुए बताया कि अब शेर बेहतर हो रहे हैं। पिछले साल अप्रैल महीने में न्यूयॉर्क के ब्रॉनोक्स जू में आठ बाघ कोविड से संक्रमित मिले थे, लेकिन इस बार पहली बार यह देश में शेरों में मामला सामने आया है।

वाइल्डलाइफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर के डायरेक्टर डॉ. शिरीष उपाध्याय ने बताया कि ब्रॉनोक्स में सामने आए मामले के बाद कहीं पर भी वाइल्ड एनिमिल्स में कोविड पॉजिटिव होने का मामला सामने नहीं आया था। हालांकि, हॉन्ग-कॉन्ग में कुत्तों और बिल्लियों में जरूर वायरस मिल चुका है।

पिछले महीने 24 तारीख को जब डॉक्टर पार्क का दौरा कर रहे थे, तभी उन्हें दिखाई दिया कि कुछ शेरों के नाक से पानी आ रहा है और कफ कर रहे हैं। साथ ही कुछ खाना भी नहीं खा रहे थे। इसके बाद उन्होंने इन शेरों के स्वैब सैंपल्स लिए और फिर जांच करने के लिए भेजा गया। बाद में पार्क के आठ शेर कोविड से संक्रमित मिले। पॉजिटिव पाए जाने की वजह से इन शेरों को आइसोलेट कर दिया गया है और जरूरी इलाज दिया जा रहा है। सभी इलाज से लगातार बेहतर हो रहे हैं।

टेस्टिंग से पता चला है कि यह संक्रमण किसी गंभीर वेरिएंट की वजह से नहीं हुआ था। वहीं, अभी तक इस बात का कोई वास्तविक प्रमाण नहीं मिला है कि यह बीमारी किसी जानवर से इंसान तक पहुंच सकती है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!